Tuesday, October 19, 2010

इतिहास में एक मील पत्थर

प्रिय मित्रों आप को खुशी होगी कि चिट्ठी पत्री का एक प्रसिद्ध विशेष कविता विशेषांक प्रकाशित होने की इन्तजार में है। चिट्ठी पत्री गढ़वाली भाषा की सम्मानित पत्रिकाओं में शुमार है यह गढ़वाली साहित्य के लिए ऐतिहासिक क्षण है कि एक पत्रिका 150 कविताओं के साथ एकल अंक में ही 123 गढ़वाली भाषा कवियों को कविताओं एक साथ प्रकाशित करने जा रही है। विशेषांक में अलग-अलग भावों, रूपों, शैलियों, मुद्दों प्रतीकों, छवियों से जुड़ी कविताएं शामिल हैं। यह हम सभी के लिए एक गौरवशाली क्षण है। जो लोग इस मुद्दे में रुचि रखते हैं, कृपया संपर्क के लिए कॉल काल करें।

श्री मदन डुकलान, m_duklan@yahoo.com 09412993417बीसी कुकरेती 09702716940 मुम्बई।

Popular Posts

Blog Archive