02 June, 2013

बेटियां


कई बार देखा
बेटियों को बेटा बनते हुए
मगर, बेटे
हर बार बेटे ही बने देखे

इसलिए
जोर देकर कहूंगा
बेटियां तो 'बेटियां' ही होती हैं
बेटा बन गए, तो
क्‍या मालूम
फिर पीछे मुड़कर देखें न देखें....।

सर्वाधिकार- धनेश कोठारी

Total Pageviews

Advertisement

Popular Posts

Blog Archive